सुकन्या समृद्धि योजना 2021: PM Kanya Yojana, पीएम कन्या योजना फॉर्म डाउनलोड

सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म, Sukanya Samriddhi Yojana Interest Calculator, सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट, Sukanya Samriddhi Yojana Online Form से सम्बंधित जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की गयी थी।

सुकन्या समृद्धि योजना

इस योजना के तहत बेटियों के लिए पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोलने व्यवस्था की गयी है। वह सभी बालिकाएं जिनकी आयु 10 वर्ष से कम है वह पोस्ट ऑफिस ,राष्ट्रीय बैंक ,अन्य एजेंसी के द्वारा बचत खाता खुलवा सकती है। इस बचत खाते को सुकन्या समृद्धि खाता के नाम से भी जाना जाता है।

Sukanya Samriddhi Yojana 2021

हमारे देश में आज भी लड़कियों को बोझ की नजर से देखा जाता है, ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों की शिक्षा पर लड़को की तुलना में कम ध्यान दिया जाता है। इसी को देखते हुए बेटियों के भविष्य की सुरक्षा एवं अस्तित्व की रक्षा के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रोग्राम के तहत सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) की शुरुआत की गयी है। इसमें बिटिया के लिए पोस्ट ऑफिस ,अन्य एजेंसी में न्यूनतम 250 रूपये में बचत खाता खोलने की व्यवस्था की गयी है जिसमे अधिकतम पांच लाख रूपये की राशि जमा कराई का सकती है।

यह योजना मुख्य रूप से बेटियों के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए शुरू की गयी है। प्रारंभ में केंद्र सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि खाता पर 9 .1 % अंतर वार्षिक दर पर ब्याज दिया जाता था जिसे अब घटाकर 8 .6 % करने पर सहमति बनी हुई है। यह स्कीम मुख्य रूप से उन मजदूर वर्ग के लोगो के लिए एक महत्वपूर्ण स्कीम है जो मजदूरी करके जीवन-निर्वाह करते है और उनकी आमदनी बहुत ही कम है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता रिओपन करने की प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के तहत शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, 10 वर्ष की आयु से पहले बेटी की शिक्षा और शादी के लिए एक खाता खोला जा सकता है। यह एक बहुत लोकप्रिय योजना है जिसके तहत, प्रत्येक वर्ष खाते में न्यूनतम 250 और अधिकतम  1.5 लाख रूपए  जमा किए जा सकते हैं। इस खाते को जारी रखने के लिए लाभार्थी को हर साल  250 राप्य जमा करने होंगे। यदि लाभार्थी ने किसी वर्ष में  250 रूपए जमा नहीं किया है, तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा।

खाता बंद होने के बाद, खाता सक्रिय किया जा सकता है। इसके लिए, लाभार्थी को बैंक या डाकघर में जाना होगा जहां उसका खाता खुला होगा। इसके बाद, लाभार्थी को खाते को पुनर्जीवित करने और बकाया राशि का भुगतान करने के लिए फॉर्म  भरना और जमा करना होगा। यदि आपने 2 साल के लिए 250 रूपए  का भुगतान नहीं किया है, तो आपको  500 रूपए का भुगतान करना होगा और हर साल  का 50 रूपए का जुर्माना देना होगा। 2 साल की सजा 100 रूपए होगी। इसलिए यदि आपने 2 साल के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाते में न्यूनतम राशि का भुगतान नहीं किया है, तो आपको कम से कम 600 रूपए का भुगतान करना होगा। जिसमे   दो साल की न्यूनतम राशि 500 रूपए होगी और दो साल की सजा 100 रूपए होगी।

SSY Scheme 2021 

इस योजना के तहत एक खाता खोलने के बाद, यह खाता तब तक चलाया जा सकता है जब तक लड़की 18 साल की या शादी के 21 साल बाद नहीं हो जाती। SSY 2021 के तहत, एक व्यक्ति अपनी या अपनी पढ़ाई के लिए कुल जमा राशि का 50% निकाल सकता है जब लड़की 18 वर्ष की हो जाती है और बेटी के 21 वर्ष की हो जाने के बाद शादी के लिए पूरी जमा राशि निकाल सकती है, जिसमें लाभार्थी जमा राशि का भुगतान करती है और एजेंसी द्वारा दिए गए ब्याज को भी शामिल किया जाएगा। यह खाता केवल तभी परिपक्व होगा जब बेटी 21 वर्ष की होगी।

सुकन्या समृद्धि योजना नई अपडेट

कोरोना वायरस के कारण देश की अर्थव्यवस्था की आर्थिक गतिविधि काफी प्रभावित हुई है। आरबीआई की ओर रेपो दर कम होने के बाद, सरकार ने पिछले महीने एसएसवाई सहित छोटी बचत योजनाओं के लिए इंटरेस्ट रेट में कटौती की घोषणा की। इस योजना के तहत डाकघर  आवर्ती जमा (आरडी) और  टाइम डिपॉजिट  पर ब्याज दरों में 1-3 साल के लिए 1.4 प्रतिशत की कमी आई, पीपीएफ और एसएसवाई में 0.8 प्रतिशत की कटौती की गई। यह आपकी बेटी के लिए परिपक्वता राशि को कम कर देगा। इस सुकन्या समृद्धि योजना के तहत ब्याज दर को कम करने के बाद, लाभार्थी के खातों में वार्षिक ब्याज दर पहले के 8.4 प्रतिशत की तुलना में घटकर 7.6 प्रतिशत हो गई है।

सुकन्या समृद्धि योजना 2021 का उद्देश्य

सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देना है और शादी के योग्य होने पर पैसे की कमी नहीं होने देना है। देश के गरीब लोग आसानी से अपनी बेटी की शिक्षा और शादी और उनकी बेटी के खर्चों को पूरा करने के लिए बचत खाते में पैसे जोड़ सकते हैं। बैंक में न्यूनतम 250 रुपये में खाता खोला जा सकता है। इस SSY 2021 के साथ, देश की लड़कियों को प्रोत्साहन मिलेगा और वे आगे बढ़ सकेंगी। इस योजना के माध्यम से लड़कियों की  भ्रूण हत्या को रोकने का प्रयास भी किया जायेगा।

एसएसवाई योजना 2021

इस योजना के तहत एक खाता खोलने के बाद, यह खाता तब तक चलाया जा सकता है जब तक लड़की की आयी  18 साल की या 21 साल के बाद लड़की की शादी नहीं हो जाती। SSY 2021 के तहत, एक व्यक्ति अपनी बेटी की पढ़ाई के लिए कुल जमा राशि का 50% निकाल सकता है जब लड़की 18 वर्ष की हो जाती है और बेटी के 21 वर्ष की होने के बाद शादी के लिए पूरी जमा राशि निकली जा सकती है। जिसमें लाभार्थी जमा राशि और एजेंसी द्वारा दिए गए ब्याज को भी शामिल किया जाता है। यह खाता केवल तभी परिपक्व होगा जब बेटी की आयु 21 वर्ष की होगी।

PM Kanya Yojana Maturity and Partial Withdrawal

कुछ लोग सोचते हैं कि सुकन्या समृद्धि योजना खाता 21 वर्ष की आयु के साथ परिपक्व होता है लेकिन यह पूरी तरह से गलत है। लड़की की उम्र का खाते की परिपक्वता से कोई संबंध नहीं है। हालांकि, खाताधारक केवल तभी राशि निकाल सकता है जब वह 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेगा और इस राशि का उपयोग उच्च अध्ययन और विवाह के लिए किया जा रहा है और बाद में खाता बंद कर दिया जाएगा। सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी मृत्यु प्रमाण पत्र के उत्पादन पर खाताधारक की मृत्यु की स्थिति में खाते को समय से पहले बंद करने की अनुमति है। फिर शेष राशि माता-पिता को जमा कर दी जाती है और खाता बंद कर दिया जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ

  • देश की 10 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत, 10 साल से कम आयु लड़कियों के अभिभावक उनके लिए एक बचत खाता खोल सकते हैं।
  • चालू वित्त वर्ष के दौरान, सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।
  • आप PM कन्या योजना 2021 के तहत, अपनी बेटियों के भविष्य को आसानी से सुरक्षित कर सकते हैं।
  • यह राशि आपकी लड़की की शिक्षा या शादी में सहायता करेगी।
  • आप इस योजना को, किसी भी बैंक या डाकघर में आसानी से शुरू कर सकते हैं।
  • यह योजना बेटी और उसके माता-पिता / अभिभावक दोनों के लिए लाभकारी सिद्ध होगी।
  • इस योजना के तहत अभिभावक या प्राकृतिक माता-पिता को केवल दो लड़कियों के लिए ही खाता खोल सकते है।
  • जमाकर्ता खाता खोलने की तारीख से चौदह साल पूरा होने तक लड़की की ओर से खाते में पैसा जमा कर सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के नुकसान

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ के बारे में तो आप सभी जानते हैं आज हम आपको इस योजना के कुछ नुकसान बताने जा रहे हैं। इसलिए यदि आप इस योजना के तहत आवेदन करने जा रहे हैं तो नीचे दी गई जानकारी अवश्य पढ़ें।

  • यदि कोई व्यक्ति कम समय अवधि के लिए निवेश करना चाहता है तो कन्या समृद्धि खाता उनके लिए लाभकारी नहीं होगा। इस योजना के तहत खोले गए खाते में जमा की गई राशि आप केवल बेटी की 21 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद ही निकाल सकते हैं। यदि आप कन्या समृद्धि योजना की जगह यह पैसे म्यूच्यूअल फंड या एफडी जैसे विकल्पों में रखते हैं तो आप अपनी मर्जी से 7 से 10 वर्ष की अवधि के बाद यह पैसे निकाल सकते हैं।
  • जैसा कि आप जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना में 7 पॉइंट 6 फ़ीसदी की ब्याज दर प्रदान की जाती है जो कि काफी अच्छी तरह। परंतु फिर भी कुछ जानकारों का कहना है कि यह इक्विटी मार्केट या इक्विटी म्यूचुअल फंड से काफी कम काम है। उनका कहना है कि इक्विटी में कुछ ही समय में आपको काफी बेहतर रिटर्न प्रदान किए जाते हैं इतना ही नहीं कई तो ऐसी योजनाएं भी है जहां बहुत जल्दी ही आपका पैसा डबल हो जाता है। अन्य शब्दों में कहें तो सुकन्या समृद्धि योजना रिटर्न के मामले में कुछ पीछे है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत केवल दो बेटियों का ही खाता खुलवाया जा सकता है हालांकि यदि दूसरी बेटियां जुड़वा पैदा होती हैं तो ऐसे में 3 बच्चों के लिए खाता खुलवा सकते हैं। परंतु यदि म्यूच्यूअल फंड का एफडी की बात करें तो वहां ऐसी कोई लिमिट नहीं है आप केवल दो नहीं बल्कि 3 या 4 या कितने भी बच्चों के लिए इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • आपकीजानकारी के लिए बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर की हर 3 महीनों में समीक्षा की जाती है। इस समीक्षा के बाद ब्याज दर में बदलाव भी किया जा सकता है। इसका अर्थ यह है कि 3 महीने बाद ब्याज दर बढ़ाई या घटाई भी जा सकती है। परंतु योजना में पूरे साल एक ही ब्याज दर रहती है। यानी अगर किसी ने जनवरी से मार्च 2021 की तिमाही में यह खाता खुला है तो उसे निवेश अवधि के दौरान 7.6 प्रतिशत ब्याज दर ही मिलता रहेगा।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आपको 1 वर्ष में कम से कम ₹250 जमा कराने होते हैं। इसके साथ ही इसकी सालाना अधिकतम जमा राशि की भी एक सीमा है जो कि 1.5 लाख रुपए है आप इससे अधिक राशि अपने सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा नहीं करा सकते।यदि किसी वरिष्ठ आप इस खाते में 1 पॉइंट ₹500000 से अधिक राशि जमा कर आएंगे तो आपको जमा कराई गई अतिरिक्त राशि पर कोई ब्याज नहीं प्रदान किया जाएगा। जबकि यदि एक्टिवा म्यूच्यूअल फंड की बात करें तो आप इसमें कितनी भी राशि का निवेश कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभार्थी

एक परिवार के केवल दो बेटियां ही  सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ ले सकती  हैं। यदि किसी परिवार मैं बेटियों की संख्या 2 से अधिक है तो ऐसी स्थिति में उस परिवार के केवल दो बालिकाओं को ही इस योजना का लाभ मिलेगा। परंतु यदि दूसरी डिलीवरी पर जुड़वा बेटियां होती है तो ऐसी स्थिति में इस योजना का लाभ तीनों बेटियों को मिलेगा। जुड़वा बेटियों की संख्या समान होगी लेकिन उनके लाभ अलग से दिए जाएंगे। अर्थात दो जुड़वा बेटियों को एक बेटी  ही माना जाएगा परंतु लाभ के समय दोनों को अलग अलग लाभ दिए जाएंगे। वह सभी लोग जो इस योजना के अंतर्गत अपनी बेटी का खाता खोलकर उनकी विवाह और शिक्षा के लिए लाभ लेना चाहते हैं वे योजना के अंतर्गत आसानी से बेटियों के नाम पर खाता खुलवा सकते हैं। एक और बात जो ध्यान रखने योग्य है यह है लड़की की अधिकतम आयु 10 साल होनी चाहिए या इससे कम 10 साल से  अधिक आयु वाली लड़कियों का खाता नहीं खुलवाया जाएगा। सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत की गई है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता में धनराशि जमा करने की प्रक्रिया

भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी Sukanya Samriddhi Yojana खाते को नकद, डिमांड ड्राफ्ट द्वारा जमा किया जा सकता है या डाकघर या बैंक में इलेक्ट्रॉनिक स्थानांतरण मोड द्वारा जमा किया जा सकता है, जहां कोर बैंकिंग प्रणाली मौजूद है, खाता खोलने के लिए, नाम और खाता धारक का नाम लिखना होगा। इन सभी आसान तरीकों से कोई भी व्यक्ति अपनी बेटी के खाते में पैसा जमा कर सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने की आयु सीमा

केंद्र सरकार द्वारा जारी की गयी PM Kanya Yojana सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, बेटी का बैंक खाता 1 से 10 वर्ष की आयु तक खोला जा सकता है। यदि बेटी की आयु 10 वर्ष से अधिक है, तो इस योजना के तहत बैंक खाता नहीं खोला जा सकता है। इस योजना के अनुसार यह खाता बेटी के माता-पिता या अभिभावक द्वारा संचालित किया जाएगा।

प्रतिवर्ष कितने पैसे देने होंगे तथा कब तक?

पहले, सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 1000 रुपये प्रति माह देने का प्रावधान था। जिसे अब कम करके 250 रुपये प्रति माह किया गया है। इस योजना के तहत आप 250 रुपये से लेकर 150000 रुपये तक के निवेश कर सकते हैं। इस योजना के तहत, बैंक खाता खोलने के बाद 14 साल के लिए निवेश करना आवश्यक है।

सुकन्या समृद्धि योजना के अन्य बदलाव

सुकन्या समृद्धि योजना के नए नियमों में अब कुछ नए प्रावधान जोड़े गए हैं, जबकि कुछ पुराने प्रावधानो को हटा भी दिया गया है। परन्तु अभी इसके बारे में कोई स्पष्ट जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गयी है। जैसे ही हमें इसके बारे में कोई जानकारी मिलती है, हम इस अपने लेख के माध्यम से आपके लिए अपडेट कर देंगे।

सुकन्या समृद्धि योजना दिसंबर अपडेट

इंडिया पोस्ट नौ प्रकार की बचत योजनाओं का संचालन करता है। जिसे पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम के नाम से जाना जाता है। ये 9 प्रकार की योजनाएं हैं; पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट, पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट, पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, सुकन्या समृद्धि योजना, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, 5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट, किसान विकास पत्र और सीनियर सिटीजन सेविंग योजना। इन सभी बचत योजनाओं की ब्याज दर में समय-समय पर सरकार द्वारा संशोधन किया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना में वर्तमान में ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है।

एक परिवार की अधिकतम दो बेटियों द्वारा इस योजना का लाभ लिया जा सकता है। इस योजना के तहत, जब बच्चा 21 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेता है, तो वह परीक्षण राशि प्राप्त कर सकता है। यदि यह मान लिया जाए कि इस योजना के तहत ब्याज दर भविष्य में 7.6 प्रतिशत होगी, तो इस योजना के तहत जमा राशि को दोगुना करने में 9.4 साल लगेंगे।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता मैच्योरिटी से पहले बंद होने की स्थिति

यदि खाताधारक की मृत्यु हो जाती है, तो इस खाते को बंद किया जा सकता है। इस योजना के अनुसार खाताधारक के अभिभावक के पास खाताधारक का मृत्यु प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है, जिसके बाद इस खाते में जमा राशि ब्याज सहित बेटी के अभिभावक को वापस कर दी जाएगी। इसके अलावा खाता खोलने के 5 साल बाद भी सुकन्या समृद्धि योजना किसी भी कारण से बंद हो सकती है। इस स्थिति में, बचत बैंक खाते के अनुसार ब्याज दर उपलब्ध होगी। बेटी की शिक्षा के लिए खाते से 50% धनराशि भी निकाली जा सकती है। यह निकासी बेटी के 18 साल के होने के बाद ही की जा सकती है।

PM Kanya Yojana के अंतर्गत रकम जमा न करने की स्थिति

यदि किसी कारण से खाता धारक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत राशि जमा करने में असमर्थ है, तो उसे प्रति वर्ष 50 रुपये का जुर्माना देना होगा। और इसके साथ, हर साल भुगतान की जाने वाली न्यूनतम राशि को जमा करना होगा। जुर्माना अदा न करने पर सुकन्या समृद्धि योजना खाते में बचत खाते के बराबर ब्याज दर मिलेगी जो चार प्रतिशत है।

सुकन्या समृद्धि योजना प्रमुख तथ्यों की जानकारी

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी10 वर्ष से कम आयु की कन्या
आवेदन की प्रक्रियापोस्ट ऑफिस/बैंक शाखा द्वारा
उद्देश्यबिटिया का भविष्य सुरक्षा
लाभबचत खाते पर 8 .6 % ब्याज दर
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाए
आधिकारिक वेबसाइट————–

प्रधानमंत्री कन्या योजना 2021 के लाभ

इस योजना का लाभ 10 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों को प्रदान किया जाएगा।

  • लड़कियों के अभिभावक, सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, अपनी बेटिओ के लिए एक बचत खाता खोल सकते हैं। जब तक लड़की की आणि 10 साल नहीं हो जाती।
  • चालू वित्त वर्ष के दौरान इस योजना के तहत, अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।
  • आप अपनी बेटियों के भविष्य को, पीएम कन्या योजना 2021 के द्वारा आसानी से सुरक्षित कर सकते हैं और यह आपकी बेटी की शिक्षा या शादी में  भी सहायता  करेगा।
  • आप किसी भी बैंक या डाकघर में इस योजना को आसानी से शुरू कर सकते हैं।
  • यह योजना बेटी और उसके अभिभावकों दोनों के लिए लाभकारी है।
  • माता-पिता को केवल दो लड़कियों के लिए ही इस योजना के तहत खाता खोल सकते है।
  • जमाकर्ता खाता खोलने की तारीख से चौदह साल पूरा होने तक, लड़की की तरफ से खाते में पैसा जमा कर सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना लोन

आप सरकार द्वारा संचालित विभिन्न पीपीएफ योजनाओं के तहत ऋण प्राप्त कर सकते है। परन्तु  आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, अन्य पीपीएफ योजना की तरह ऋण नहीं ले सकते। लेकिन अगर बालिका की आयु 18 वर्ष हो जाती है, तो माता-पिता द्वारा इस योजना के खाते से निकासी की जा सकती है परन्तु आप केवल 50% राशि ही निकाल सकते है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत लड़कियों की बेहतरी के लिए राशि निकाली  जा सकती है और इस राशि का उपयोग लड़की की शादी, उच्च शिक्षा आदि के लिए किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना मेंकिये गए बदलाव

केंद्र सरकार द्वारा Sukanya Samriddhi Yojana 2021 में अभी तक पांच बड़े बदलाव किये हैं। यहाँ हम आपको इन सभी पांच बड़े बदलावों की जानकारी उपलब्ध कराएँगे।

डिफॉल्ट अकाउंट पर अधिक ब्याज दर

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samridhi Yojana) के तहत वह बचत खाते जिनमे एक वर्ष में 250 रूपये की राशि जमा नहीं कराई जाती वह डिफॉल्ट अकाउंट माना जाता है। केंद्र सरकार के फैसले के बाद फॉल्ट अकाउंट में जमा रकम पर वही इंट्रेस्ट रेट दिया जायेगा जो इस योजना के तहत तय किया गया है। इसके साथ ही समृद्धि योजना खाते पर 8.7% व पोस्ट ऑफिस में खोले गए बचत खाते पर 4% ब्याज दिए जाने की बात कही गयी है।

दो बच्चियों से अधिक का खाता खोले जाने पर

नए नियमो के अनुसार अगर कोई व्यक्ति अपनी दो बच्चियों का सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवाना चाहता है तब उसे खाता खुलवाने के लिए अलग-अलग दस्तावेज जमा कराने होंगे। इसके साथ ही उसे हलफनामा भी भरना होगा।

सुकन्या समृद्धि खाते का सञ्चालन

नियमों में किए गए बदलावों के अनुसार बिटिया 18 वर्ष से कम आयु होने की स्थिति में सुकन्या समृद्धि खाते का सञ्चालन नहीं कर सकती। बिटिया 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर अभिभावक को सम्बंधित दस्तावेज पोस्ट ऑफिस में जमा कराने होंगे।

प्रीमैच्योर अकाउंट बंद करने के नियम

इसके तहत बिटिया की मृत्यु अथवा सहानुभूति के आधार पर अकाउंट को परिपक्वता अवधि से पहले बंद किये जाने का प्रवधान है। यहाँ सहानुभूति से आशय अभिभावक का जानलेवा बीमारी के इलाज के लिए मदद करना माना गया है, इस स्थिति में बैंक अकाउंट को परिपक्वता अवधि से पहले बंद किया जा सकता है।

टैक्स बेनिफिट

आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 सी के तहत, PM Kanya Yojana में जमा की गई राशि, ब्याज की राशि और परिपक्वता राशि कर मुक्त है। इस योजना के तहत दिए गए योगदान पर सरकार द्वारा एक छूट प्रदान की गई है, जो प्रति वर्ष 1.5 लाख रुपये तक है।

Sukanya Samriddhi Yojana Tax Benefits

  • आयकर अधिनियम के अनुसार, इस योजना के तहत किए गए सभी निवेश कर कटौती लाभ के लिए पात्र हैं। SSY की ओर अधिकतम 1.5 लाख रुपए कर कटौती की अनुमति है।
  • इसके तहत, ब्याज को क्रेडिट किया जाता है, जिसे वार्षिक आधार पर खाते में जमा किया जाता है। इस अर्जित / संचित ब्याज पर कोई कर नहीं लगाया जाता है। इससे योजना के तहत धनराशि अधिकतम हो सकती है।
  • इस योजना के अनुसार टैक्स में छूट का दावा लड़की के माता-पिता द्वारा किया जा सकता है। केवल एक जमाकर्ता आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट के लिए पात्र है।

Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate List

Financial YearInterest Rate
From April 1, 20149.1%
From April 1, 20159.2%
From April 1, 2016 -June 30, 20168.6%
From July 1, 2016-September 30, 20168.6%
From October 1, 2016-December 31, 20168.5%
From January 1, 2018 – March 31, 20188.3%
From April 1, 2018 -June 30, 20188.1%
From July 1, 2018 -September 30, 20188.1%
From October 1, 2018 – December 31, 20188.5%
From July 1, 20168.4%

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकृत किये गए बैंक

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना बचत खाता खुलवाने के लिए देशभर में कुल 28 बैंक अधिकृत किये हैं। आप निम्न तालिका में दिए गए किसी भी बैंक में  सुकन्या समृद्धि खाता (SSY) खुलवा सकते हैं।

PM CARES FUND: Official Website & Account Details, पीएम केयर में दान कैसे करें?

  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • इलाहाबाद बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • विजय बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)

सुकन्या समृद्धि योजना 2021 (SSY) की प्रमुख विशेषताएं

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा कन्याओ के कल्याण एवं अस्तित्व की सुरक्षा के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रोग्राम के तहत सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है। इसके योजना की प्रमुख विशेषताओं का विवरण इस प्रकार है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 10 वर्ष से कम आयु की किसी भी बच्ची का खाता खुलवाया जा सकता है।
  • इस योजना में बचत खाते या सुकन्या समृद्धि खाते पर 8 .6 % की दर से ब्याज प्राप्त होगा।
  • आप बिटिया के सुकन्या समृद्धि खाते एक वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रूपये की राशि जमा करा सकते हैं।
  • बिटिया के 18 वर्ष की आयु पूरी किये जाने पर सुकन्या समृद्धि खाते से 50 % राशि निकली जा सकती है।
  • बिटिया की आयु  21 वर्ष होने की स्थिति में Sukanya Samriddhi Scheme के तहत बचत खाते से पूरी धनराशि निकाली जा सकती है जिसे बिटिया के विवाह में प्रयोग किया जा सकता है।

पीएम कन्या योजना 2021 की प्रमुख विशेषताएं

पीएम कन्या योजना नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा कन्याओ के कल्याण एवं अस्तित्व की सुरक्षा के लिए शुरू की गयी एक अन्य योजना है जिसके लाभ कुछ हद तक सुकन्या समृद्धि योजना की तरह ही हैं। यहाँ हम आपको इस प्रमुख विशेषताओं का विवरण उपलब्ध करा रहे है।

  • यह योजना मुख्य रूप से 10 वर्ष से कम आयु की लड़कियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से शुरू की गयी है।
  • इस योजना के तहत बिटिया के बचत खाते में चालू वित्त वर्ष के दौरान अधिकतम 1.5 लाख रूपये की धनराशि जमा कराई जा सकती है।
  • यह योजना लड़की और उनके माता-पिता / अभिभावक दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह दोनों की मदद करता है।
  • इस बचत खाते में खाता खुलवाने की तिथि से चौदह साल पूरा होने तक राशि जमा कराई जा सकती है।
  • पीएम कन्या योजना के तहत बिटिया का बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खुलवाया जा सकता है।

PM Kanya Yojana 2021 में अकाउंट खुलवाने के नियम

बेटी के माता-पिता या फिर कानूनी अभिभावक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवा सकते है। यह खाता बेटी के जन्म से 10 वर्ष की आयु तक खोला जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक बेटी के लिए केवल एक खाता खोला जा सकता है और खाता खोलने के समय, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होगा। इसके साथ ही उन्हें पहचान पत्र और पते का प्रमाण जैसे अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज भी जमा करना होगा।

पात्रता मानदंड

  • इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए बच्ची की आयु न्यूनतम 10 वर्ष निर्धारित है।
  • केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजना का लाभ केवल माता-पिता एवं संरक्षक की देखरेख में ही लिया जा सकता है।
  • शेयर बाजार के जोखिम, फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) की गिरती ब्याज दर से अलग यह सबसे पसंदीदा निवेश का विकल्प बानी हुई है।

आवश्यक दस्तावेज

आपको सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए निम्नलिखित संभावित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  • आधार कार्ड
  • पहचान का प्रमाण (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, राशन कार्ड)
  • माता-पिता का की फोटोग्राफ
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • सुकन्या समृद्धि आवेदन फॉर्म

सुकन्या समृद्धि योजना में खता खुलवाने के नियम

बेटी के माता-पिता या फिर कानूनी अभिभावक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवा सकते है। यह खाता बेटी के जन्म से 10 वर्ष की आयु तक खोला जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक बेटी के लिए केवल एक खाता खोला जा सकता है, जिसके लिए बेटी के जन्म प्रमाण पत्र को पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करवाने की आवश्यकता होगी। इसके साथ ही आपको अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे पहचान पत्र और पते का प्रमाण आदि भी जमा करवाना पड़ेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन फॉर्म डाउनलोड करे

वह सभी जो केंद्र सरकार की कल्याणकारी सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म को  डाउनलोड करना होगा।
  • आप सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म को अपने नजदीकी बैंक शाखा से भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारियों को दर्ज करके सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ संलग्न कर लेना है।
  • आपको पोस्ट ऑफिस में आवेदन फॉर्म को दस्तावेज और सम्बंधित दस्तावेजों के साथ जमा करना है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट से जुड़े रहें। बैंक शाखा एवं पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाने सम्बन्धी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर करने की प्रक्रिया

आप अपने सुकन्या समृद्धि योजना के खातों को एक डाकघर से दूसरे डाकघर या एक बैंक से दूसरे बैंक में स्थानांतरित कर सकते है। इस खाते को स्थानांतरित करने के लिए, आपको निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले, आपको अपनी  पासबुक और केवाईसी दस्तावेजों के साथ पोस्ट ऑफिस या बैंक जाना होगा। स्थानांतरण के दौरान लड़कियों को उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।
  • इसके बाद, आपको अपने बैंक या पोस्ट ऑफिस में अपने सुकन्या समृद्धि खाते की पासबुक और केवाईसी दस्तावेज जमा करना होगा और अपने बैंक और पोस्ट ऑफिस को सूचित करना होगा कि आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है।
  • अब, प्रबंधक आपके पुराने खाते को डाकघर या बैंक में बंद कर देगा और आपको स्थानांतरण रिक्वेस्ट देगा जिसके लिए आपसे सभी जरूरी दस्तावेज मांगे जाएंगे।
  • अब आपको यह स्थानांतरण रिक्वेस्ट लेना होगा और एक नए डाकघर या बैंक खाते में जाना होगा और वहां इन सभी दस्तावेजों को जमा करना होगा।
  • पहचान और पते के प्रमाण के लिए आपको केवाईसी दस्तावेज भी प्रस्तुत करने होंगे।
  • अब आपको एक नई पासबुक दी जाएगी जो आपकी शेष राशि को प्रदर्शित करेगी।
  • इसके बाद, आप इस नए खाते के साथ सुकन्या समृद्धि योजना संचालित कर सकते हैं।

पीएम कन्या योजना के तहत अकाउंट बैलेंस चेक करने की प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई थी। जिसके तहत निवेश पर 7.6 प्रतिशत ब्याज दिया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से देखी जा सकती है। आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अपने खाते की शेष राशि को बहुत आसानी से जांच सकते हैं। वर्तमान में 25 से अधिक बैंक  सुकन्या समृद्धि योजना के खाते प्रदान कर रहे हैं। इन बैंकों में जाकर आप अपना खाता खुलवा सकते है। इसके बाद बैंक आपको पासबुक प्रदान करेगा। इस पासबुक के माध्यम से आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। आप डिजिटल रूप से या खाता विवरण के माध्यम से अकाउंट बैलेंस की जाँच कर सकते है।  कीअकाउंट बैलेंस की जांच करने के लिए, आपको निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको अपने बैंक में लॉगिन आईडी और पासवर्ड प्राप्त करने के लिए अनुरोध करना होगा।
  • सभी बैंक के लोग लॉगिन सुविधा प्रदान नहीं करते हैं केवल कुछ ही बैंक है जो यह लॉगइन क्रैडेंशियल्स सुविधा प्रदान करते हैं।
  • अपने बैंक से लॉगइन डीटेल्स प्राप्त करने के बाद आपको बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर जाना होगा।
  • बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर जाकर आपको बैंक द्वारा प्रदान किए गए लॉगइन क्रैडेंशियल्स का इस्तेमाल करके लॉगइन करना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। इस होम पेज पर आपको कंफर्म बैलेंस का ऑप्शन दिखाई देगा इस ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • कंफर्म बैलेंस के ऑप्शन पर क्लिक करते ही सुकन्या समृद्धि खाते की राशि आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगी।
  • सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैंक बैलेंस को ऑनलाइन चेक करने के लिए आप केवल इसी माध्यम का प्रयोग कर सकते हैं।

Quick Links

यह भी पढ़े – प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना: 80 करोड़ राशन कार्ड धारकों के लिए 3 महीने राशन की व्यवस्था

हम उम्मीद करते हैं की आपको सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Proin diam justo, scelerisque non felis porta, placerat si. Vestibulum ac elementum massa. In rutrum quis risus quis sollicitudin.

navigation
  • Travel
  • business
  • lifestyle
  • video
  • markets
newsletter
contact info
1, My Address, My Street, New York City, NY, USA
+1234567890
contact@domain.com